Sunday, 19 November 2017
khabarexpress:Local to Global NEWS

इच्छा शक्ति का कमाल

इच्छा शक्ति का कमाल

 

संवाद के लिए सबसे महत्वपूर्ण है, सबसे पहले खुद को जानना, अपनी अच्छाईयों, विशेषताओं, विशिष्टताओं के बारे में, कमियां तो लोग भी बहुत बता देंगे ।

 

जिस पलआप अपने आपको जैसे है वैसे ही स्वीकार करने की हिम्मत दिखाते हैं, आपके संवाद और जीवन मे आगे बढने के रास्ते आश्चर्यजनक रूप से खुल जाते हैं। हम स्वयं में सुधार के लिए सदा तत्पर रहे परंतु कुछ चीजे ऐसी होती हैं, जिन्हें प्राकृतिक तौर पर बदलना संभव नहीं होता। हाल ही में किये गए एक सर्वेक्षण में यह सवाल पूछा गया: ’’ अगर आप अपने बारे में कोई एक चीज बदलन सके तो, वह कौनसी होगी ? सर्वेक्षण में भाग लेने वाले 90 प्रतिशत लोगों ने ऐसी बातें बताई जिन्हें बदलना संभव ही नहीं था। सच्चाई यही है कि हम ऐसे कई लक्षणों के साथ पैदा होतें हैं, जिन्हें हम बदल नहीं सकते, जैसे हमारी त्वचा का रंग, हमारा कद, हमारी हड्डियों का ढांचा या कोई जन्मजात दोष ! यदि आप किसी चीज को बदल नहीं सकते तो बेहतर यही है कि उससे प्रेम करना, Will Power can bring in fresh environmentउसे अपने लिए बेहतरीन ढंग से प्रयोग करना सीख लें, जिंदगी बहुत आसान हो जाएगी । हम शारीरिक सीमाओं या अक्षमताओं के कारण जीवन में आगे न बढ़ पाने का बहाना करते हैं, उसे एक बचाव के रूप में इस्तेमाल करते हैं, पर ठहरिये !  जरा कुछ बिंदुओं पर ध्यान दीजिए और फिर निर्णय पर पहुंचिये की जीवन मैं शारीरिक अक्षमता या दृढ आत्मविश्वास, कुछ कर दिखाने की चाहत क्या ज्यादा ताकतवर है ?

इरा सिंधल 2015 की भारतीय प्रशसनिक सेवा में प्रथम स्थान पर रही है। उनकी रीढ की हड्डी 60 प्रतिशत तक मुडी हूई है।

विख्यात नृत्यांगना सुधा चंद्रन के सिर्फ एक ही पैर है।

अरूणिमा सिन्हा विश्व की पहली महिला है जो एक कटे हुए पैर के साथ विश्व के सबसे ऊँचे पहाड़ माउण्ट एवरेस्ट पर चढ गई।

दुनिया के महान वैज्ञानिक स्टीफन हाकिंग का पूरा शरीर निष्क्रिय है, फिर भी उन्होनें दुनिया को ’’ब्लैक हाॅल’’ जैसी खोज करके बताई ओर वो भी अपनी व्हील चेयर पर से।

 

दोस्तों संवाद, सफलता, शोहरत सब हमारे मन के संकल्प किये जाने वाले प्रयासों पर निर्भर करते हैं। जितनी अधिक हमारी चाहत होगी कुछ विशेष नया, आश्चर्यजनक करने की बाधाएं उतनी ही बौनी हो जाएगी। हमें अक्सर ऐसे लोग मिल जाते हैं, जो कहते हैं यह तो  होना असंभव है, दूर रहिये उनसे। सब संभव है,जरुरत है तो आपके निश्चय की अपनी कमजोरियों को अपनी ताक़त बनायें,खुद को अपने लक्ष्य के लिए पूर्ण रूप से समर्पित कर दें,दिन रात उसी का स्वपन देखें,और यकीं मानिये की संवाद और सफल जीवन का रहस्य = जादू आपकी मुट्ठी मैं होगा।

रास्ता थोडा सा कठिन है पर यह रलेक् तरकीब से आसान हो सकता है और वो तरकीब है

"जरा सा मुस्कुराइये"