Saturday, 21 October 2017

कल से बीकानेर में शुरू होगा नाटको का महाकुंभ

बीकानेर थिएटर फेस्टिवल में भाग लेने के लिये मुम्बई और गोवा से बीकानेर पहुचे नाट्य दल 

कल से बीकानेर में शुरू होगा नाटको का महाकुंभ

बीकानेर। बीकानेर में कल नाटको के महाकुंभ बीकानेर थिएटर फेस्टिवल के आगाज के साथ ही अगले तीन दिनो तक बीकानेर में रंग गतिविधिया शुरू हो जायेंगी। कल सुबह नौ बजे नोखा रोड पर हंसा गेस्ट हाउस में प्रसिद्व सिने अभिनेता शशि कपूर की पुत्री और अभिनेत्री संजना कपूर तथा नई दिल्ली के राष्ट्रीय नाट्य विधालय के पूर्व निदेशक देवेन्द्रराज अंकुर उद्घाटन करेंगे। समारोह के मुख्य वक्ता केन्द्रीय साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता और नगर के वरिष्ठ रंगकर्मी तथा साहित्यकार मधु आचार्य ‘आशावादी‘ होंगे। वे उद्घाटन समारोह में बीकानेर के रंगकर्म की उपलब्धियों और भारतीय रंगमंच में बीकानेर के योगदान पर अपनी बात रखेंगे। समारोह में भाग लेने के लिये आज मुम्बई और गोवा के दल बीकानेर पहुच गए। गोवा के निर्देशक विजय नाईक और मुम्बई के राजेन्द्र तिवाडी के साथ लगभग 70 रंगकर्मी बीकानेर पहुच गए है। समारोह में भाग लेने के लिये संजना कपूर भी रात तक बीकनेर पहुच जायेंगी। 
कल समारोह के पहले दिन सुबह उद्घाटन सत्र के बाद नाट्य परिचर्चा आयोजित की जायेगी। इस नाट्य परिचर्चा में भारतीय रंगमंच के ख्यातनाम रंगकर्मियो के साथ प्रदेश और नगर के रंगकर्मी, साहित्यकार और चिंतक विभिन्न सत्रों में गंभीर चर्चा करेंगे। नवाचार के रूप में इस बार प्रत्येक सत्र के विषय को बीकानेर के ही नाट्य निर्देशक पन्द्रह मिनट की नाट्य प्रस्तुति के रूप में प्रस्तुत करेंगे और फिर उसी नाट्य प्रस्तुति से निकले सत्र के विषय और गंभीर प्रश्नों पर वरिष्ठ रंगकर्मी और अतिथि रंगकर्मियो के साथ खुलकर चर्चा होगी। कल फेस्टिवल के पहले दिन 12 मार्च को सुबह 11 बजे नाट्य आलोचना-विचार से प्रदर्शन तक विषय पर नाट्य परिचर्चा आयोजित की जायेगी। परिचर्चा की अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार और साहित्य अकादमी, नई दिल्ली के सदस्य मालचंद तिवाडी करेंगे जबकि परिचर्चा के मुख्य अतिथि देश के ख्यातनाम रंगकर्मी और राष्ट्रीय नाट्य विधालय के पूर्व निदेशक देवेन्द्रराज अंकुर होंगे तथा विशिष्ट अतिथि मुम्बई के रंगकर्मी अमन गुप्ता व एक्टिंग गुुरू राजेन्द्र तिवाडी होंगे। सत्र में बीकानेर के युवा रंग निर्देशक विपिन पुरोहित अपनी टीम के साथ नाट्य परिचर्चा के विषय पर नाट्य प्रस्तुति देंगे और फिर उस नाट्य प्रस्तुति में उठाये गए सवालो पर चर्चा की जायेगी। इस पूरे सत्र का संचालन साहित्यकार हरीब बी शर्मा करेंगे। दोपहर तीन बजे से नाट्य मंचन शुरू होंगे। 


कल बीकानेर की प्रस्तुति दुलारी बाई सहित मंचित होंगे तीन नाटक 
समारोह की पहली प्रस्तुति भारतीय रंगमंच के प्रख्यात सख्सियत स्व0 दिनेश ठाकुर की संस्था अंक द्वारा अशोक मिश्रा के निर्दशन में नाटक अटके भटके लटके सुर होगी। टाउन हाॅल में मंचित होने वाले इस नाटक में प्रीता माथुर और अमन गुप्ता अभिनय करेंगे। शाम 6 बजे वेटरनरी प्रेक्षागृह में चण्डीगढ की सुखबिर के निर्देशन में नाटक रोमियो जूलिएट एण्ड सेवन क्लोन्स का मंचन होगा। नाटक में अभिमन्यु, डा0 पी चन्द्रशेखर, रिंकु जैन, जसविन्द्र, सिंह, जसवीर कुमार, विनोद कुमार, चेनिस गिल, प्रगति, शीला, जजवीर सिंह, गरमीत कौर, अभिनय करेंगे। कल के दिन की अंतिम प्रस्तुति के रूप में हंसा गेस्ट हाउस में रात 8.30 बजे बीकानेर के सुधेश व्यास के निर्देशन में नाटक दुलारी बाई का मंचन किया जायेगा। नाटक में भगवती स्वामी, सुनील जोशी, नवलकिशोर व्यास, अशोक व्यास, के के रंगा, विकास शर्मा, सुमित मोहित, शिव सुथार, अमित सोनी आदि अभिनय करेंगे और संगीत राजेन्द्र झुंझ का होगा। 

स्मार्ट क्लब, राजूवास की अध्यक्ष रजनी जोशी ने बताया कि इस समारोह में विभिन्न सांस्कृतिक केन्द्रो के सहयोग से कूल नौ नाटको के शहर में अलग अलग प्रेक्षागृहो में मंचन किया जायेगा परन्तु एक समय में एक ही नाटक का मंचन होगा ताकि सभी कलाकारो/दर्शको को सभी नाटको का देखने का अवसर मिल सके। अनुराग कला केन्द्र के उत्तम सिह ने बताया कि फेस्टिवल के सफल आयोजन के लिये एक परामर्श मण्डल और एक आयोजन समिति बनाई गई है। परामर्श मण्डल में बीकानेर के वरिष्ठ संगीतज्ञ डा0 मुरारी शर्मा, हेमंत डागा, सुभाष मितल, राकेश चावला, अरूण गुप्ता, एस डी चैहान और लक्ष्मीनारायण सोनी को शामिल किया गया है तथा आयोजन समिति में बीकानेर के शास्त्रीय संगीतज्ञ असित-अमित गोस्वामी, साहित्यकार संजय पुरोहित, रंगकर्मी रवि शुक्ल, राजशेखर शर्मा, दिनेश रंगा को शामिल किया गया है। कार्यक्रम में दर्शको व कला अनुरागीयो का प्रवेश निशुल्क रहेगा। 

आयोजन समिति के अध्यक्ष हंसराज डागा ने बताया कि बीकानेर रंगमंच की अपनी एक गौरवशाली परम्परा रही है जिसे और अधिक उर्जावान बनाने के प्रयास में आयोजित बीकानेर थिएटर फेस्टिवल एक ऐसा रंग-यज्ञ होगा जिसमें रंगकर्म से जुडे प्रतिबद्व और निष्ठावान कलाकार अपनी रंग आहूति देने के लिये बीकानेर में एकत्र होंगे। इस रंग-अनुष्ठान में विभिन्न प्रदेशो के रंगकर्मी अपनी अपनी नाट्य प्रस्तुतियों और अनुभवों के संग तीन दिन तक वर्तमान रंगकर्म और रंग प्रयासों पर चर्चा करेंगे। इस दौरान युवा रंगकर्मियों को देश के ख्यातनाम रंगकर्मियो के साथ संवाद स्थापित करने का अवसर मिलेगा। समारोह के मध्य में बीकानेर के रंग जिज्ञासुओ को बाहर की नाट्य प्रस्तुतियों एवं बाहर के रंगकर्मियों को बीकानेर की नाट्य प्रस्तुतियां देखने का अवसर मिल सकेगा। यह समारोह इस रूप में भी महत्वपूर्ण सिद्व हो सकता है कि इसमें नाट्य की विभिन्न शैलियांे से युवा रंगकर्मी एंव रंग दर्शक परिचित हो सकेंगे। 

फोटोग्राफ के माध्यम से बीकानेर का वैभव देखेंगे देश के रंगकर्मी
बीकानेर थिएटर फेस्टिवल के दौरान नगर के वैभव, कला, और संस्कृति से देश के रंगकर्मियो, कलाकारो और कला अनुरागीयो से परिचय करवाने के लिये तीन दिन तक हंसा गेस्ट हाउस में एक फोटो प्रदर्शनी भी लगाई जायेगी जिसमें नगर के प्रेस फोटोग्राफर अजीज भुट्टो, मनीष पारीक, दिनेश कुमार ओझा (डीके) और नौशाद कादरी के नगर की विरासत, संस्कृति  और बीकानेर रंगमंच को दिखाते फोटो प्रदर्शित किए जायेंगे।

Drama   Drama Festival   Drama Series   Rajasthan Drama   National Drama