Saturday, 24 June 2017

गोवा मे होगा बीकानेर के निर्देशको का नाटक मंचन

निर्देशक दयानंद शर्मा का होगा सुधेश व्यास निर्देशन

बीकानेर ,  राजस्थान संगीत नाटक अकादमी और गोवा कला एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वावधान में 20 से 22 नवंबर तक गोवा के वास्को शहर मे होने वाले तीन दिवसीय नाट्य समारोह में बीकानेर के दो निर्देशको के प्रसिद्व नाटको का मंचन हेतु चयन हुआ है। 
नाट्य समारोह में बीकानेर के वरिष्ठ रंग निर्देशक दयानंद शर्मा के निर्देशन में विजय तंेदुलकर के लिखे नाटक पंछी ऐसे आते है का मंचन दिनांक 20 नवंबर को और सुधेश व्यास के निर्देशन में हास्य नाटक चार कोट का मंचन 21 नवंबर को किया जायेगा। दयानंद शर्मा के निर्देशन में होने वाले नाटक पंछी ऐसे आते है में बीकानेर के युवा रंगकर्मी विपिन पुरोहित, मंजु रांकावत, तरूण गौड, रजनी मिश्रा, भरत राजपुरोहित, अदिति शर्मा इत्यादि अभिनय करेंगे और प्रकाश प्रभाव विजय सिंह राठौड का होगा। नाटक पंछी ऐसे आते है मध्यमवर्गीय परिवारो की छोटी छोटी खुशियो और तकलीफो के बारे में है। 
सुधेश व्यास के निर्देशन में मंचित होने वाले नाटक चार कोट में अशोक व्यास, नवलकिशोर व्यास, सुनील जोशी, के के रंगा, उत्तम सिंह, राजशेखर शर्मा, विकास शर्मा, जितेन्द्र पुरोहित, सुमित मोहिल, रवि व्यास, मदन मारू इत्यादि अभिनय करेंगे। चार कोट नाटक के मूल में आम आदमी का सरकारी व्यवस्था के प्रति एक दर्द है जिसे हास्य के रूप में प्रस्तुत किया गया है। चार कोट जो जनता की सेवा अथवा सुरक्षा के प्रतीक है लेकिन वास्तव में आम आदमी उनसे सहमा हुआ है या उनसे बचने का प्रयास करता है। तंत्र की व्यवस्था में जकडा हुआ आम आदमी राजनीति में किस तरह यूज एण्ड थ्रो की तरह है, किस तरह उसकी भावना को एक सीढी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, किस तरह सेवा/सुरक्षा के कोट आज एक बिजनस सिंबल बन चुके है, ये सब विभिन्न नाटकीय घटनाओ और दृश्यबंधो के द्वारा नाटक में दर्शाया गया है। नाटक के मुूल में आम आदमी का सरकार, कानून एवं राजनीति में व्याप्त जटिल खामियो एवं विद्रूपता के प्रति एक दर्द है जिसे व्यंग्यात्मक एवं चुटीली भाषा के रूप में प्रस्तुत किया गया हैै। 
 

Sudhesh Vyas   Dayanand Sharma   Daram Art   Goa Drama Festival