Thursday, 26 November 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  2019 view   Add Comment

निजी स्कूलों की हडताल

प्रदेशव्यापी हडताल : विद्यालय संचालक बीकानेर से जाएंगे जयपुर

4 को भी स्कूलें रहेगी बंद

बीकानेर। निजि स्कूलों की विभिन्न मांगो को लेकर आज प्रदेश भर मे हुई हड़ाल के तह बीकानेर के बहुत सारे निजि शिक्षण संस्थानों ने स्कूल बंद रखा। इस हड़ाल मे मुख्यतः राजस्थान बोड से सम्बन्ध रखने वाली विद्यालय बंद रहे।
खबरएक्सप्रेस.काॅम को हड़ताल की पूर्ण जानकारी देते निजि शिक्षण संस्थान के गिरिराज खैरीवाल ने बताया कि निजी शिक्षण संस्थाओं की जायज मांगो के लिए वार्ता हेतु बुलाकर धोखे से जयपुर के 60 निजी स्कूल संचालकों को गिरफ्तार किए जाने के विरोध स्वरूप शिक्षा परिवार द्वारा आयोजित किये जा रहे प्रदेशव्यापी बंद के तहत बीकानेर में भी आज   निजी स्कूलों में हडताल रही। हडताल एेतिहासिक रूप से शांतिपूर्वक पूर्ण सफल रही है। सीबीएसई सहित सभी स्कूलों में गुरूवार को भी हडताल रहेगी। 
Private Schools on Strike
खैरीवाल ने बताया कि गुरुवार को सभी स्कूल संचालक कोटगेट पर सुबह 8 बजे से ही एकत्रित होने लगे। ज्यों ज्यों स्कूल संचालक आते गये विभिन्न क्षेत्रों में बंद स्कूलों के जायजे के लिए टोली बनाकर जाते रहे। टोलियों के रूप में नगर के विभिन्न क्षेत्रों में निरीक्षण के लिए गये स्कूल संचालकों ने खुली मिली एक्का दुक्का स्कूल को निवेदन कर के बंद करवा दिया। गिरिराज खैरीवाल, घनश्याम साध, मनीष यादव, विपीन पोपली, आनंद सिंह, रमेश बालेचा, सवाई सिंह राजपुरोहित, राकेश पंवार, बालकिशन सोलंकी, नंदकिशाेर कच्छावा, कमल मारू, अशोक उपाध्याय, गिरिश गहलोत ,कृष्णकुमार स्वामी, मनोज कुमार राजपुरोहित, दीपक यादव, सुंदरलाल साध, चंपालाल प्रजापत,रामचंद्र आचार्य, कमल सांखला,विष्नु पंवार, पुखराजसिंह, ,बजरंग लाल प्रजापत, घनश्याम स्वामी, राजेश स्वामी, रामसिंह राठोर, रामसिंह इत्यादि के नेतृत्व मे विभिन्न क्षेत्रों का सघन निरीक्षण किया गया। गांधी पार्क में हुई आभार मिटिंग में गिरिराज खैरीवाल ने सभी संचालकों के प्रति आभार जताया और कहा कि इस प्रकार से एक होकर ही हम कुंभकर्णी नींद में सोई सरकार को जगा सकते हैं। उन्होने बताया कि बीकानेर में बंद ऐतिहसिक रहा है और पूरे शहर में मुश्किल से 20-25 स्कूल ही खुले मिले, जिनमें अनुरोध पूर्वक छुट्टी करवा दी गई। वैसे इन स्कूलों में आज बच्चों की उपस्थिति बहुत ही कम रही। 

उन्होने बताया कि शुक्रवार को भी टीम पैपा की पैनी निगाह विभिन्न क्षेत्रों में रहेगी और यदि कही कोई स्कूल खुली मिलेगी तो अनुरोध के साथ हडताल में शामिल होने के लिए तैयार किया जाएगा। खैरीवाल ने बताया कि कल के लिए टोलियों का गठन आज ही कर दिया गया है और प्रातः 7 बजे से ही टोलिया अपने अपने क्षेत्रों में टोह के लिए प्रस्थान करेगी।  

विद्यालय संचालक बीकानेर से जाएंगे जयपुर
जयपुर में एम आई रोड स्थित शहीद स्मारक में आहूत महापडाव में शामिल होने के लिए बीकानेर से भी बड़ी संख्या में स्कूल संचालक सम्मिलित होने के लिए जयपुर जा रहे हैं। इसके लिए बसो, ट्रेनो और निजी साधन से संचालकगण जयपुर जायेंगे।
 
यह है कारण
जयपुर के शिक्षा परिवार के बैनर तले 4 सितंबर को प्रस्तावित एक दिवसीय बंद व जयपुर कूच के कार्यक्रम के अंतर्गत शिक्षा मंत्री द्वारा वार्ता के बहाने बुलाकर शिक्षा परिवार के अध्यक्ष सुश्री हेमलता शर्मा और महासचिव अनिल शर्मा सहित 60 निजी स्कूल संचालकों को धोखे से गिरफ्तार किए जाने के विरोध स्वरूप मंगलवार से  ही राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में निजी शिक्षण संस्था संचालक आंदोलन कर रहे हैं। जिसके तहत धरना, प्रदर्शन और हडताल के कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं ।
 
ये हैं प्रमुख मांगे
1. आरटीई में प्रवेश और निरीक्षण प्रक्रिया का सरलीकरण किया जाए आरटीई के भौतिक सत्यापन के तहत आरटीई संबंधित निरीक्षण ही किया जाए 
2. मान्यता नियमों का सरलीकरण और लंबित प्रकरणों का शीघ्र निस्तारण 
3.निजी स्कूलों के टीचर्स के अनुभव प्रमाण पत्र की प्रक्रिया सरल की जाए और शिक्षा सहायक भर्ती में निजी स्कूलों के टीचर्स के लिए बोनस अंक की व्यवस्था की जाये  
4. निजी स्कूलों के मेधावी  बच्चो के लिए लेपटोप और अन्य पुरस्कार की व्यवस्था की जाये । सरकारी स्कूलों में पढने वाले बच्चों को दिये जा रही प्रोत्साहन की सभी सरकारी योजनाओं का लाभ निजी स्कूलों के बच्चों को भी दिया जाये  
5. माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर द्वारा लिए जा रहे संबद्धता शुल्क बंद किये जाने और बोर्ड से संबंधित अन्य समस्याओं का निराकरण शीघ्र किया जाए 
6. निजी शिक्षण संस्थाओ में 50%अप्रशिक्षित टीचर्स का प्रावधान किया जाए

Tag

Share this news

Post your comment