Thursday, 26 November 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  1941 view   Add Comment

राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड के वैज्ञानिक को तकनीकी प्रशिक्षण देगा वेटरनरी विश्वविद्यालय

पशुचिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान में राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड, आनन्द, गुजरात

बीकानेर, वेटरनरी विश्वविद्यालय के जयपुर स्थित स्नातकोत्तर पशुचिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान में राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड, आनन्द, गुजरात के वैज्ञानिकों को दुग्ध पदार्थों में हानिकारक तत्वों की जांच हेतु पी.सी.आर तकनीक की कार्यप्रणाली पर प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। वेटरनरी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. ए.के. गहलोत ने बताया कि राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड की प्रयोगशाला में पी.सी.आर. तकनीक से दुग्ध पदार्थों में विशिष्ट हानिकारक पदार्थों का अध्ययन और अनुसंधान के मानकीकरण का कार्य किया जाना है। इस बाबात आनन्द के वैज्ञानिक जयपुर में प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे। कुलपति प्रो. गहलोत ने बताया कि विश्वविद्यालय के जयपुर स्थित स्नातकोत्तर पशुचिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान में स्थापित उन्नत दुग्ध अनुसंधान प्रयोगशाला में दूध में विभिन्न मिलावटी तत्वों, प्रतिजैविक और कीटनाशी दवाओं के अवशेषों और अन्य प्रकार के हानिकारक जीवाणुओं व विषाणुओं की जांच का अनुसंधान कार्य किया जा रहा है। विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों ने इस दिशा में सर्वेक्षण कर कई मिलावटी तत्वों की जांच के मानक तैयार किये हैं। इस प्रयोगशाला में अत्याधुनिक आणविक तकनीक पर आधारित विधियों से दूध में हानिकारक तत्वों का पता लगाया जा रहा है। हाल ही में राष्ट्रीय डेयरी बोर्ड के अध्यक्ष डाॅ. टी. नंदकुमार के नेतृत्व में बोर्ड के वैज्ञानिकों के दल ने उन्नत दुग्ध अनुसंधान प्रयोगशाला का दौरा करके इन कार्यों की सराहना की थी। राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड ने इस बाबत विश्वविद्यालय से उन्नत दुग्ध अनुसंधान प्रयोगशाला में अपने वैज्ञानिकों के प्रशिक्षण बाबत आग्रह किया है। डाॅ. संजीता शर्मा, प्रमुख अन्वेषक, उन्नत दुग्ध अनुसंधान प्रयोगशाला ने बताया कि दूध में मिलावटी तत्वों की जांच के मानकीकरण एसओपी, आवश्यक संसाधन तथा जांच किट बाबत प्रशिक्षण गुजरात के वैज्ञानिकों को प्रदान किया जाएगा।
 

Tag

Share this news

Post your comment