Wednesday, 02 December 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  2784 view   Add Comment

राष्ट्रपति ने राजस्थान की तेईस ग्राम पंचायतों को निर्मल ग्राम पुरूस्कार प्रदान किए, उपराष्ट्रपति ने निर्मल ग्राम पुरस्कार विजेता सरपंचों को बधाई दी

देश में संपूर्ण स्वच्छता अभियान शुरू होने के बाद राजस्थान को पहली बार यह राष्ट्रीय प्रोत्साहन पुरूस्कार प्राप्त करने का गौरव हासिल हुआ है। पुरूस्कार में निर्धारित मापदंडो के अनुसार ग्राम पंचायत की जनसंख्या के आधार पर नगद पुरूस्कार दिए गए। उपराष्ट्रपति श्री भैरो सिंह शेखावत ने निर्मल ग्राम पुरस्कार जीतने वाली ग्राम पंचायतों के सरपंचों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।

राष्ट्रपति ने राजस्थान की तेईस ग्राम पंचायतों को निर्मल ग्राम पुरूस्कार प्रदान किए, उपराष्ट्रपति ने निर्मल ग्राम पुरस्कार विजेता सरपंचों को बधाई दी

नई दिल्ली, ०४ मई। राजस्थान के नौ जिलों की २३ ग्राम पंचायतों के सरपंचों ने शुक्रवार को सांय नई दिल्ली के अम्बेडकर स्टेडियम में आयोजित भव्य समारोह में राष्ट्रपति डाँ. ए.पी.जे.अब्दुल कलाम से निर्मल ग्राम पुरूस्कार-२००६ ग्रहण किए। देश में संपूर्ण स्वच्छता अभियान शुरू होने के बाद राजस्थान को पहली बार यह राष्ट्रीय प्रोत्साहन पुरूस्कार प्राप्त करने का गौरव हासिल हुआ है। पुरूस्कार में निर्धारित मापदंडो के अनुसार ग्राम पंचायत की जनसंख्या के आधार पर नगद पुरूस्कार दिए गए।
 उल्लेखनीय है कि राजस्थान की मुख्यमंत्राी श्रीमती वसुंधरा राजे ने अपने बजट भाषण-२००७ में निर्मल ग्राम पुरूस्कार के लिए चयनित ग्राम पंचायतों को राज्य सरकार की ओर से एक लाख रूपये का अतिरिक्त पुरूस्कार देने की घोषणा की है।
 पुरूस्कार ग्रहण करने आए सरपंचों के दल का नेतृत्व कर रहे निर्मल ग्राम राज्य सलाहकार श्री अरूण सुराणा ने बताया कि राजस्थान के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि प्रदेश की २३ ग्राम पंचायतों को एक साथ निर्मल ग्राम पुरूस्कार के लिए चुना गया।
 उन्होने बताया कि अगले वर्ष राज्य का लक्ष्य १०० से अधिक ग्राम पंचायतों को निर्मल ग्रामों में परिवर्तित करना है। उन्होंने बताया कि पूर्व में प्रदेश की २२ ग्राम पंचायतों को इस पुरस्कार के लिए चुना गया था, लेकिन हाल ही में झुंझुनू जिले की किशोरपुरा ग्राम पंचायत को भी इस श्रेणी में शामिल करने से प्रदेश की २३ ग्राम पंचायतों को यह पुरस्कार मिला है।
 राजस्थान के जनस्वास्थ्य अभियांत्रिाकी विभाग के मंत्री प्रो. सांवर लाल जाट, विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री भरत मीणा और यूनीसेफ के राज्य प्रतिनिधि डाँ. सतीश कुमार ने भी पहली बार निर्मल ग्राम पुरूस्कार जीतने के लिए राज्य की २३ ग्राम पंचायतों के सरपंचों को बधाई देते हुए आशा व्यक्त की है कि प्रदेश के सभी ३२ जिलों में चल रहे सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान को दृष्टिगत रखते हुए आगामी वर्षो में अधिकाधिक पंचायतें निर्मल ग्राम पुरूस्कार के लिए प्रयास करेगी और सम्पूर्ण प्रदेश को स्वच्छ और निरापद बनाने में सहायक बनेगी।

राजस्थान के विजेता सरपंचों ने श्री शेखावत के साथ खुशी बांटी

Winners of Nirmal Gram Purashkarउपराष्ट्रपति श्री भैरो सिंह शेखावत ने निर्मल ग्राम पुरस्कार जीतने वाली ग्राम पंचायतों के सरपंचों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।
 श्री शेखावत, राष्ट्रपति डाँ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम से पुरूस्कार ग्रहण करने राजस्थान से दिल्ली आये २३ ग्राम पंचायतों के विजेता सरपंचों के समक्ष अपनी भावनाओं को उजागर कर रहे थे। यह सरपंच सांसद श्रीमती किरण माहेश्वरी और निर्मल ग्राम के राज्य सलाहकार श्री अरूण सुराणा के साथ उपराष्ट्रपति से भेंट करने दिल्ली में उनके राजकीय निवास गये थे। विजेता सरपंचों ने उपराष्ट्रपति के साथ निर्मल ग्राम पुरस्कार की खुशी बांटते हुए उन्हें मेवाडी पगडी पहनाई।
 उपराष्ट्रपति ने सभी सरपंचों से बातचीत की। श्री शेखावत ने कहा कि गांवों के विकास के बिना देश का विकास संभव नहीं है, इसलिए सरपंचों को अपने गुरुतर दायित्वों को समझते हुए पुरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ गंावों के विकास में अपनी भूमिका का निर्वहन करना चाहिए। उन्होंने राजस्थान की २३ ग्राम पंचायतों को पहली बार निर्मल ग्राम पुरस्कार मिलने पर बहुत प्रसन्नता व्यक्त की। विशेष कर विजेता सरपंचों में काफी संख्या में महिला सरपचों को देख उपराष्ट्रपति खुश हुए। सांसद किरण माहेश्वरी ने उपराष्ट्रपति को बताया कि राजस्थान से निर्मल ग्राम पुरस्कार ग्रहण करने आए २३ सरपंचों में से दस महिला सरपंच शामिल है।
  इस मौके पर राजसमन्द जिले की कुंभलगढ पंचायत समिति की ग्राम पंचायत तलादरी की सरपंच श्रीमती गंगा देवी, इसी जिले की ओढा और पिपलोत्राी ग्राम पंचायत के सरपंच श्री शंकर लाल सेन और श्याम सुन्दर पालीवाल, बूंदी जिले की बसौली ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती सीता देवी, सीकर जिले की कटराथल पंचायत की सरपंच श्रीमती चन्दी देवी चुरु जिले की सालासर ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती सत्य भामा इत्यादि पुरस्कार पाकर गौरान्वित हो रहे थे
 उपराष्ट्रपति ने सरपंचों के संस्मरण सुनकर उन्हें आगे भी अन्य गांवों के लिए प्रेरणास्पद कार्य करने की सीख प्रदान की।

Share this news

Post your comment