Thursday, 26 November 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  2448 view   Add Comment

राहत की सौगात

हनुमानगढ, ४ मई । मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने नहरी क्षेत्रा के किसानों की वर्षों से चली आ रही गम्भीर समस्याओं के समाधान की घोषणा के साथ ही यहां के निवासियों को राहत की सौगात दी है। मुख्यमंत्री आंवटित बारानी भूमि के खातेदारी अधिकार देने के साथ उपनिवेशन क्षेत्रा में भूमि विक्रय के नियमन के सम्बन्ध में की गई इन घोषणाओं से क्षेत्रा के हजारों किसानों को वर्षों पुरानी समस्याओं से निजात मिल सकेगी ।
हनुमानगढ पंचायत समिति के ढाबां गांव में आयोजित विशाल किसान सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए श्रीमती राजे ने कॉलोनी क्षेत्रा में आने वाली आवंटित बारानी भूमि खातेदारी अधिकार देने के सम्बन्ध में सहूलियतें देने का एलान किया । मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि कॉलोनी क्षेत्रा के बाहर होने के कारण राजस्थान भू - राजस्व नियम, १९७० के अन्तर्गत आवंटित और कॉलोनी क्षेत्रा में आने वाली भूमि के काश्तकारों को खातेदारी अधिकार प्रदान किये जाएंेगे ।
मुख्यमंत्री ने बताया कि ऐसी भूमि कॉलोनी क्षेत्रा के बाहर होने के कारण १९७० के नियमों के अन्तर्गत निःशुल्क गैर खातेदारी के रूप में आवंटित की गई लेकिन खातेदारी अधिकार देने से पूर्व ही यह भूमि कॉलोनी क्षेत्रा में अधिसूचित हो गई थी । इस तरह की भूमि पर आरक्षित दर पर निर्धारित राशि दिये जाने पर ही खातेदारी अधिकार प्रदान किये जा सकते हैं। श्रीमती राजे ने घोषणा की कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति के काश्तकारों को सामान्य आंवटन की आरक्षित दर की १० प्रतिशत तथा अन्य काश्तकारों को २० प्रतिशत राशि पर खातेदार अधिकारी दिये जाऐंगे ।
इसी तरह जिला कलक्टर की अनुमति के बिना खातेदार एवं गैर खातेदार आवंटी द्वारा उपनिवेशन क्षेत्रा में किये गये विक्रय का भी नियमन करने की मुख्यमंत्री ने घोषणा की। श्रीमती राजे ने नियमन के लिए प्रार्थना पत्रा प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि ३१ मार्च‘ २००८ तक बढाने की भी घोषणा की ।  उपनिवेशन अधिनियम की धारा १३ में यह प्रावधान है कि कोई भी खातेदार राज्य सरकार की बिना अनुमति के अपनी भूमि को हस्तान्तरित नहीं करेगा । ऐसे बेचान को विधिमान्य करने के लिए पहले प्रार्थना पत्रा प्रस्तुत करने की अन्तिम तिथि ३१ मार्च २००६ तक बढाई गई थी ।
मुख्यमंत्री ने ढाबां में राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्वालय को माध्यमिक विद्वालय में क्रमोन्नत करने, जल प्रदाय योजना के सुढृढीकरणके लिए ३ करोड ११ लाख रूप्ये की योजना मंजूर करने तथा संगरिया चिकित्सालय में महिला चिकित्सक का पद भरने की भी घोषणा की ।

Share this news

Post your comment