Saturday, 19 August 2017

माईक्रोऑब्जर्वर व सैक्टर अधिकारियों का प्रशिक्षण कार्यक्रम हुआ सम्पन्न

डोगरा तथा चालके की मार्गदर्शन में सम्पन्न हुआ कार्यक्रम

बीकानेर, पशुचिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के सभागार में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर माईक्रोऑब्जर्वर व सैक्टर अधिकारियों का एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम, सामान्य पर्यवेक्षक हेग कोजीन,जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा तथा जिला पुलिस अधीक्षक संतोष चालके की साक्षी व मार्गदर्शन में सम्पन्न हुआ। 
इस अवसर पर पर्यवेक्षक कोजीन ने कहा कि निष्पक्ष व स्वतंत्रा मतदान करवाने में माईक्रोऑब्जर्वर व सैक्टर अधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि मतदान दल प्रशिक्षण कार्य को ध्यानपूर्वक आत्मसात करंे,जिससे वे मतदान प्रक्रिया सुगमता से पूर्ण करवा सकंे। उन्होंने कहा कि जिन मतदान केन्द्रों को क्रिटिकल बूथ घोषित किया गया है,उनमें से कुछ केन्द्रों पर माईक्रोऑब्जर्वर नियुक्त किए जायेंगे। ये माईक्रोऑब्जर्वर्स नमूने के मतदान से लेकर ,मतदान की सम्पूर्ण गतिविधियों पर नजर रखेंगे एवं निर्धारित प्रपत्रा में अपनी रिपोर्ट सामान्य पर्यवेक्षक को उपलब्ध कराएंगे। उन्होंने सभी अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि वे आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के मामलों पर पैनी नजर रखते हुए,किसी प्रकार की शिकायत उनके मोबाईल नम्बर-9460733724 पर भी कर सकते हैं। 
इस अवसर पर जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा ने कहा कि सैक्टर ऑफिसर व मतदानदलों में बेहतर  संचार व समन्वय बना रहे। साथ ही सैक्टर ऑफिसर अपने क्षेत्रों के भ्रमण के दौरान पुख्ता संचार योजना विकसित करना सुनिश्चित करंे।  वे क्षेत्रा के कुछ विश्वसनीय लोगों को चिन्हित कर,उनके मोबाईल नम्बर ले लें जिससे क्षेत्रा के बारे में सही फीडबैक मिल सके तथा जमीनी हकीकत की जानकारी हो सके। उन्होंने कहा कि सभी सैक्टर अधिकारी मतदान से पूर्व, पूर्ण तैयारी करलंे जिससे मतदान के समय कोई भ्रान्ति अथवा असुविधा न हो। वे यह देख लंे कि मतदान केन्द्रों पर पूरी मतदान सामग्री मौजूद है। उन्होंने निर्देश दिए कि हर सैक्टर ऑफिसर, ई.वी.एम.का प्रायोगिक प्रशिक्षण लेकर,उसके तकनीकी पहलुओं से वाकिफ हो जाए,जिससे मौके पर समस्या आने पर उसका तत्काल समाधान हो सके। उन्होंने कहा कि सैक्टर ऑफिसर यह सुनिश्चित करें कि हर मतदान केन्द्र पर पेयजल,छाया तथा दवाईयों की उपलब्धता होे।
जिला पुलिस अधीक्षक संतोष चालके ने कहा कि इन चुनावों में पहली बार जितने सैक्टर ऑफिसर नियुक्त हुए  हैं,उतनी ही संख्या में पुलिस मोबाईल पार्टी की भी नियुक्ति की गई है। उन्होंने कहा कि सैक्टर ऑफिसर तथा पुलिस मोबाईल पार्टी एक ही वाहन में क्षेत्रा का भ्रमण करेंगे ,जिससे दोनों में बेहतर तालमेल बना रहे। उन्होंने कहा कि मतदान दल गांव में किसी का आतिथ्य स्वीकार नहीं करेंगे। उन्होंने बताया कि कानून व्यवस्था संधारण के लिए प्रत्येक विधान सभा क्षेत्रा में  पुलिस की 35-35 टीमंे अपने वाहन के साथ चुनाव प्रक्रिया पर नजर रखेंगी। उन्होंने कहा कि मतदान की समाप्ति के बाद मतदान दल द्वारा  ईवीएम को बड़ी सावधानी के साथ संग्रहण केन्द्र तक पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए। 
उप जिला निर्वाचन अधिकारी के.एम.दूडिया ने कहा कि  फोटो मतदाता पर्ची वितरण व्यवस्था पर चुनाव आयोग की पूरी नज़र रहेगी। उन्होंने कहा कि एब्सेन्ट,शिफ्टेड व डिफोल्टर वोटर्स की सूची मतदान केन्द्र,संबंधित बी.एल.ओ.तथा सैक्टर ऑफिसर के पास भी उपलब्ध रहेगी। उन्होंने बताया कि सभी सैक्टर ऑफिसर को वायरलैस सैट भी उपलब्ध कराया जायेगा। प्रशिक्षण प्रकोष्ठ प्रभारी सतार खां ने चुनाव प्रक्रिया से संबंधित आवश्यक कानूनी प्रावधानों पर प्रकाश डाला। 
इस अवसर पर प्रशिक्षण प्रकोष्ठ प्रभारी राकेश शर्मा,मतदान दल गठन प्रकोष्ठ प्रभारी पी.सी.मावर,लाइजन ऑफिसर आर.एस.शेखावत,मास्टर टेªनर आर.एल.बसेरा,डॉ.उमा
कान्त,डॉ.वाई.बी.माथुर,एस.एल.राठी,पवन चौहेल सहित पुलिस विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।