Tuesday, 17 October 2017

जोश से नहीं होश से युवा करें मतदान: डोगरा

मतदान का करे उपयोग, विकास मे दे सहयोग

बीकानेर,  जिला निर्वाचन अधिकारी आरती डोगरा ने कहा है कि मतदान का अधिकार संविधान का दिया हुआ सबसे अहम अधिकार है जिसका प्रयोग करके प्रत्येक व्यक्ति अपने गांव, देश और समाज के विकास में योगदान कर सकता है। 
लोकसभा चुनाव के मद्देनजर मतदाताओं को जागरूक करने के लिए चलाए जा रहे स्वीप कार्यक्रम के तहत गुरूवार को श्री डूंगरगढ तहसील के विभिन्न गांवों में मतदाताओं को सम्बोधित करते हुए डोगरा ने कहा कि दुनिया में बहुत कम देशों के लोगों को यह अधिकार मिला हुआ है । इसलिए हमें इसकी अहमीयत समझते हुए लोकतंत्रा के यज्ञ में अपने मत का प्रयोग कर आहूति देनी चाहिए। 
सांवतसर स्थित राजकीय माध्यमिक विद्यालय में ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि सभी लोग निर्भीक रूप से बिना किसी दबाव के अपने मत का प्रयोग करें। इस दौरान यदि डराने, धमकाने या अन्य किसी भी प्रकार का दबाव आता है तो इसकी शिकायत तुरंत सम्बंधित अधिकारी से करें। उन्हांेने कहा कि बीएलओ चुनाव तिथि से पांच दिन पूर्व आपके घर तक पर्ची पहुंचाएगा इस पर्ची को लेकर उसके रजिस्टर पर हस्ताक्षर करंे। यह फर्जी मतदान रोकने में अपनी भूमिका निभाएंगी। 
जोश  से नहीं होश  से युवा करें मतदान
डोगरा ने कहा कि कई बार युवा मतदाता जोश में आकर मतदान के दिन लड़ाई झगडे में उलझ जाते हैं, लेकिन युवाओं को ऐसी किसी भी गतिविधि से बचाना चाहिए, क्योंकि चुनाव का कानून बहुत सख्त है और युवाओं की छोटी की गलती उन्हें कोर्ट कचहरी के चक्कर में डाल कर उनका भविष्य खराब कर सकती है। उन्होंने कहा कि इस दौरान की गई गलती का खामियाजा उनकी जिदंगी के दस से बीस वर्ष बर्बाद  कर सकता है। आम तौर पर किए गए अपराध में समझौते संभव है परंतु चुनाव आयोग के खिलाफ किया अपराध समझौते के दायरे में नहीं आता है । अतः अनुभवी मतदाता अपने युवा बच्चों की इस दिशा में समझाईश करें। 
पहले मतदान, फिर खेत खलिहान
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रा में इस दौरान फसल कटाई का काम जारी है।  इसे देखते हुए चुनाव आयोग ने मतदान का समय दो घंटे बढाया है। नई व्यवस्था के तहत सुबह सात से शाम छह बजे तक मत डाले जा सकेंगे। उन्होंने कहा कि पहले मतदान करें और उसके बाद अपने खेत खलिहान की संभाल करें। डोगरा ने महिलाओं को अपने मत का प्रयोग करने की विशेष  अपील करते हुए कहा कि महिलाएं देश की आधी आबादी है उन्हें लोकतंत्रा में अपनी भूमिका समझते हुए घर, परिवार के साथ-साथ देश के निर्माण में भी भागीदारी निभानी चाहिए। 
गांव दुसारणा बड़ा में ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए डोगरा ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनावों में गांव में मतदान का प्रतिशत काफी कम था। परन्तु पिछले विधानसभा चुनावों में यहां मतदान 78 प्रतिशत मत पड़े। गांव के लोगों को 17 अप्रैल को होने वाले मतदान में कम से कम इस आंकड़े को छूने का लक्ष्य तय करना चाहिए। राजकीय माध्यमिक विधालय में उपस्थित महिलाओं का विशेष आग्रह करते हुए उन्होंने कहा कि वे स्वयं मत का प्रयोग करें साथ ही अन्य महिलाओं को भी इसके लिए प्रेरित करें। 
इस मौके पर उप  जिला निर्वाचन अधिकारी के.एम. दूडि़या ने भी लोगों से अपने मत का प्रयोग करने का आव्हान किया। इस अवसर उपखंड अधिकारी दुलीचंद मीणा तहसीलदार सत्यनाराण, विकास अधिकारी योजना शयोराणर सहित कई अधिकारी मौजूद थे।