Tuesday, 14 August 2018
khabarexpress:Local to Global NEWS

डिजिफेस्ट के तहत ‘टैक रश’ आयोजित, जाॅब फेयर हुआ सम्पन्न,  ग्रीनेथाॅन में पर्यावरण संरक्षण का संदेश

बड़ी संख्या में युवाओं ने जोश के साथ लिया भाग, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर आर.पी. सिंह ने दिखाई झंडी

डिजिफेस्ट के तहत ‘टैक रश’ आयोजित, जाॅब फेयर हुआ सम्पन्न,  ग्रीनेथाॅन में पर्यावरण संरक्षण का संदेश

बीकानेर, 26 जुलाई। राजस्थान डिजिफेस्ट के पहले दिन बुधवार को ‘टैक रश’ का आयोजन हुआ। 2 किलोमीटर लम्बी इस रेस को अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेटर आर पी सिंह, आईटी विभाग के प्रमुख शासन सचिव अखिल अरोड़ा, महापौर नारायण चैपड़ा, महानिरीक्षक पुलिस बिपिनचन्द्र पाण्डेय, जिला कलक्टर डाॅ. एन के गुप्ता, पुलिस अधीक्षक सवाई सिंह गोदारा ने आईटीआई काॅलेज मुख्य द्वार के पास से झण्डी दिखाकर रवाना किया। दौड़ में भाग लेेने वाले युवाओं को गूगल प्ले से एप डाउनलोड करके, दौड़ के दौरान तीन स्थानों पर मोबाईल से स्कैन करना था। ढोल-नगाड़ों की गूंज और लोकनर्तकों के मनमोहक नृत्य के बीच बड़ी संख्या में युवाओं ने पूरे उत्साह और जोश के साथ दौड़ में भाग लिया। 

 
राजस्थान डिजिफेस्टः ‘जाॅब फेयर’ ने खोली युवाओं के सुनहरे भविष्य की राह
बीकानेर, 25 जुलाई। राजस्थान डिजिफेस्ट के तहत राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान में आयोजित हुए जाॅब फेयर ने पहले दिन हजारों युवाओं के सुनहरे भविष्य की राह खोल दी। आंखों में चमक, हाथों में आॅफर लेटर थामे नौजवान अलग ही जोश में नजर आए। 

जोधपुर के आलिंद गोयल को जाॅब फेयर में लाॅयन मैनपावर साॅल्यूशन की तरफ से आॅफर लेटर प्राप्त हुआ। बीकानेर के ईसीबी काॅलेज से इंजीनियरिंग के चैथे वर्ष में पढ़ाई कर रहे आलिन्द को इंटरव्यू के तुरंत बाद जाॅब मिलना बेहतरीन अनुभव था। आलिंद ने बताया कि जाॅब फेयर में इंटरव्यू देने से उनका आत्मविश्वास बढ़ा और इस जाॅब फेयर के माध्यम से वे अपनी डिग्री पूरी करने से पहले ही जाॅब प्राप्त करने सफल रहे। सरकार का धन्यवाद देते हुए आलिंद इस जाॅब फेयर को युवाओं के लिए बड़ा अवसर बताते हैं।

 बूंदी के अमनदीप सिह हाड़ा बड़ी उम्मीद और आंखों में चमक लिए अपना आॅफर लेटर दिखाते हुए कहते हैं कि उन्हें अपने एक दोस्त के जरिये इस जाॅब फेयर की जानकारी मिली। बीएससी नर्सिंग स्टूडेंट अमनदीप को कॅरियर रूट कम्पनी में 14 हजार रुपये प्रति महीने पर नियुक्ति मिली। अमनदीप का कहना है कि इस तरह के जाॅब फेयर उनके जैसे हजारों नौजवान बेरोजगार युवाओं के लिए उम्मीद की एक नवकिरण साबित हो रहे हैं। 

बीकानेर की शिवानी घारू हाथों में अपाॅइंटमेंट लेटर थामे बहुत खुश हंै। शिवानी बताती हैं कि उन्हें समृद्धि इंडस्ट्री सर्विस प्राइवेट लिमिटेड की ओर से आॅफर लेटर मिला है। वर्तमान में वह बीकाॅम कर रही है। शिवानी कहती है कि उन्होंने सपने में भी नहीं सोचा था कि उन्हें इतनी जल्दी घर बैठे ही नौकरी मिल जाएगी। उन्होंने जब यह जानकारी अपने परिवार को दी तो सब बहुत खुश हुए। शिवानी का कहना है कि सरकार को इस प्रकार के फेयर नियमित रूप से लगाने चाहिए। 

बीकानेर के राहिल खान को जाॅब फेयर में कॅरियर रूट कम्पनी में 14 हजार रुपये प्रतिमाह के वेतन पर जाॅब मिली। बी-टेक की पढ़ाई कर रहे राहिल का कहना है कि उन्हें पहली बार ऐसे जाॅब फेयर में आने का अवसर मिला। इस आयोजन के माध्यम से उन्हें एक नया अनुभव भी प्राप्त हुआ जिसका लाभ वे अपने जीवन मंे कर सकेंगे। राहिल इस आयोजन के लिए सरकार को धन्यवाद देते हैं।


 


प्रतिभागियों ने प्रस्तुत किए अनूठे माॅडल
बीकानेर, 26 जुलाई। राजस्थान डिजिफेस्ट में तहत गुरूवार से प्रारम्भ हुए ग्रीनेथाॅन में देशभर से आए प्रतिभागियों ने पर्यावरण संरक्षण के विभिन्न विषयों पर माॅडल प्रस्तुत किए। ग्रीनेथाॅन में वर्षा जल संरक्षण, सौलर ऊर्जा, पवन ऊर्जा आदि विषयों पर प्रोजेक्ट प्रस्तुत किए। डिजिफेस्ट में बड़ी संख्या में आए आमजन ने इन माॅड्लस की सराहना की। स्थानीय विद्यार्थियों ने इनका उत्सुकता से अवलोकन किया और प्रेरणा ली।


सौलर  हाइब्रिड कार 
उदयपुर के टेक्नोइंडिया एनजीआर काॅलेज के विद्यार्थियांे समीक्षा, विष्णु, दक्ष व अभिषेक ने बताया कि सौलर हाइब्रिड कार का प्रोजेक्ट रखा। उन्होंने बताया कि पारम्परिक वाहनों से हो रहे वायु प्रदूषण को रोकने की दिशा में उनका प्रोजेक्ट अहम भूमिका निभा सकेगा। उनका कहना है कि यदि उन्हें उचित आर्थिक सहायता मिले तो वे अपने इस अनुसंधान को बड़े स्तर पर लागू कर सकेंगे। 


राजमार्गोंं पर वर्षा जल संरक्षण के लिए बनाया प्रोजेक्ट 
उदयपुर के टेक्नोइंडिया एनजीआर काॅलेज के मोहित, मृदुल, निकेश, कमेलश, शिवा तथा यश ने बताया कि राजमार्गोें पर व्यर्थ बहने वाले वर्षा जल के समुचित चैनेलाइजेशन से यह पानी सिंचाई, पेयजल का काम आ सकता है। उन्होंने अपने इस प्रोजेक्ट का विजुलाईज रूप प्रस्तुत करते हुए इस सम्बंध में किए गए सर्वे की जानकारी देते हुए बताया कि 5 किलोमीटर हाईवे के दोनों तरफ किनारों पर ड्रेनेज सिस्टम बनाकर एकत्रा जल से लगभग 2000 व्यक्तियों को 240 दिन तक पानी उपलब्ध करवाया जा सकता है। 


सेंसर्स के प्रयोग से आॅटोमेटिक फार्मिंग
जेआईईटी के विद्यार्थियों ने प्रदेश में पानी की कमी को ध्यान में रखते हुए कृषि कार्यों में पानी के उपयोग को तकनीक से जोड़ते हुए अनूठा माॅडल प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि इस माॅडल में फ्लो सेंसर, पीआईआर सेंसर, ह्यूमिटी सेंसर, माॅइश्चर सेंसर, टेम्परेचर सेंसर आदि का प्रयोग कर प्राप्त डाटा को सर्वर से जोड़ा जाएगा, जिससे आॅटोमेटिक फार्मिंग हो सकेगी। आदित्य, प्रियंका व सुनीति ने बताया कि इससे कम पानी में भी फसलों की अच्छी खेती हो सकेगी, साथ ही पानी की ओवरफ्लडिंग भी रोकी जा सकेगी। उनका मानना है कि सरकार टेªेनिंग देकर किसानों को उनके प्रोजेक्ट से जोड़ सकती है।


घरेलू पानी में बचत का दिया संदेश
जोधपुर के व्यास इंजीनियरिंग काॅलेज की छात्राओं ने घरेलू सप्लाई में पानी के संरक्षण के लिए प्लम्बिंग पाइप साइजिंग इन इंडियन कंटेस्ट विषयक माॅडल तैयार किया। दिव्या, रूचिका, कृपि, मेघा ने बताया कि घरों में पानी सप्लाई के लिए प्रयुक्त होने वाले पाईप की चैड़ाई को कम कर तथा कमोड फ्लश बटन में परिवर्तन कर बड़ी मात्रा में पानी बचाया जा सकता है। उनका माॅडल हंटर के माॅडल पर आधारित है जो भारतीय परिपेक्ष्य में न केवल पानी की बचत करेगा बल्कि लोगों में पानी बचत की आदत भी विकसित करेगा।
 
जाॅब फेयर में 3073 युवाओं का हुआ चयन, 3888 युवा हुए शाॅर्टलिस्टेड

राजस्थान  डिजीफेस्ट के दुसरे दिन  राजकीय आईटीआई परिसर में राजस्थान सरकार के सूचना, प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय दो दिवसीय रोजगार मेला गुरूवार को  सम्पन्न हुआ। मेले में 3 हजार 73 युवाओं का विभिन्न कंपनियों द्वारा विभिन्न पदों के लिए चयन किया गया तथा 3 हजार 888 युवाओं को अगले स्तर के इंटरव्यू के लिए शाॅर्टलिस्ट किया गया। मेले के दूसरे दिन गुरूवार को 1 हजार 517 अभ्यर्थी चयनित हुए व 1 हजार 692 अभ्यर्थी शाॅर्टलिस्टेड हुए तथा कुल 6 हजार 397 अभ्यर्थी पहुंचे।


राजेश सैनी ने बताया कि रोजगार मेले के लिए आॅनलाईन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की गई थी। मेले के लिए 37 हजार 868  युवाओं ने रजिस्टेªेशन करवाया तथा दोनों दिनों में 12 हजार 900 से अधिक युवाओं ने मेले में भाग लिया। मेले में देशभर की 160 से अधिक कंपनियां पहुंची।

Digifest Bikaner   Employment Fair   TechRUSH   Cricketer R P Singh