Wednesday, 13 December 2017

दो साल पूरे होने पर सरकार ने मनाया जश्न

टाउन हाॅल में राजस्थानी लोक संस्कृति से रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित

दो साल पूरे होने पर सरकार ने मनाया जश्न

बीकानेर,  वर्तमान सरकार के दो वर्ष पूर्ण होने पर जिला प्रशासन  व पर्यटन विभाग के संयुक्त तत्वावधान में रविवार को टाउन हाॅल में राजस्थानी लोक संस्कृति से ओतप्रोत रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में स्थानीय व देश विदेश  में अपनी लोक गायकी के रूप में विख्यात फलौदी के सरादीन लंगा व पार्टी े लोकगीत व नृत्य से समा बंाध दिया। 
कार्यक्रम का आगाज नंद लाल प्रजापत एंड पार्टी की ओर से प्रस्तुत गणेश वंदना से हुआ। गणेश वंदना में लंगा पार्टी ने भी स्वर से साथ देते हुए प्रथम पूजनीय गणपति की स्वर से स्तुति की।  नंद लाल प्रजापत व पार्टी ने ’’जवाई जी पावणा’  व ’’बन्जारा’’ तथा ’’भवाई’ लोक नृत्य, शशि कुमार सिंह व पार्टी ने कच्छी घोड़ी युगल नृत्य पेश कर करतल ध्वनि बटोरी। बीकानेर के ही नव रतन किराडू एवं पार्टी ने स्वर्गीय कन्हैयालाल सेठिया के लोकप्रिय  गीत ’’धरती धोरां री’’ में मरु प्रदेश की विशिष्टताओं से अवगत करवाया।

फलौदी के सरादीन एण्ड पार्टी ने सूफी कलाम ’’दमादम मस्त कलंदर’’ व कालबेलिया नृत्य की प्रभावी प्रस्तुति दी। नृत्य के दौरान सुपारी कालबेलिया ने मुंह से नोट, आंख की पुतली से अंगूठी उठाने का भी प्रदर्शन किया। मनोज प्रजापत ने बांसुरी पर लोकगीत की धुन बजाई तथा निकिता हर्ष ने भी लोकगीत सुनाया। कार्यक्रम में ठाकुर दास स्वामी एवं पार्टी ने मिमिक्री के माध्यम से उपस्थित दर्शकों को हंसाया। 
मुख्य अतिथि भारतीय पर्यटन विकास निगम के प्रबंध निदेशक की  विशेषाधिकारी  शालिनी दीवान थीं। दीवान ने कहा कि लोक कला व लोक संस्कृति से राजस्थान की पर्यटन के क्षेत्रा अपनी अलग की पहचान है। राजस्थान के पुरामहत्व व पर्यटन स्थल काफी समृद्ध है। उन्होंने बीकानेर के पर्यटन स्थलों, लोगों की मेहमानवाजी व आपसी सौहार्द की परम्परा की भी प्रशंसा की।

सहायक पर्यटन अधिकारी पुष्पेन्द सिंह, अशोक व्यास व तरुणा शेखावत ने अतिथियों का स्वागत किया। राजस्थानी वेशभूषा में रणबांकुरा के रूप में अनिल बोड़ा व उनके साथियों ने भी अभिनंदन किया।  कार्यक्रम का संचालन ज्योति प्रकाश रंगा ने किया। 

पर्यटन विभाग   भारतीय पर्यटन विकास निगम   रणबांकुरा