Thursday, 26 November 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  3612 view   Add Comment

मर्यादा महोत्सव को लेकर तैयारी बैठक

समय पर मिल रहे मार्गदर्शन और आशीर्वाद को ही इसकी सफलता

 

बीकानेर। आचार्य श्री महाश्रमण मर्यादा महोत्सव व्यवस्था समिति की एक महत्वपूर्ण बैठक  का आयोजन हंसा गेस्ट हाऊस मेें किया गया। बैठक की अध्यक्षता वरिष्ठ श्रावक दुलीचंद  चौपड़ा ने की। नमस्कार महामंत्र के संगान के साथ बैठक का प्रारम्भ हुआ। मंगलाचरण  भंवरलाल डाकलिया ने किया, समिति के परामर्शकगणों और समाज के उदारमना  गणमान्य श्रावकों को मंच पर आसन ग्रहण करवाया गया। समिति के संयोजक हंसराज  डागा ने उपस्थित सभी लोगों का हंसा गेस्ट हाऊस प्रांगण में स्वागत-अभिनन्दन किया।  समिति के मंत्री जतन दुग्गड़ ने गत बैठक की कार्यवाही का वाचन करते हुए सदन से उसकी  पुष्टि करवायी, समिति संयोजक ने वर्तमान तक मर्यादा महोत्सव व्यवस्था समिति से  सम्बन्धित गति-प्रगति की जानकारी विस्तारपूर्वक देते हुए विभिन्न समितियों के अंतर्गत अब  तक के हो चुके कार्यों के बारे में सदन को अवगत कराया। उन्होंने आचार्य श्री महाश्रमणजी  से इस व्यवस्था समिति को समय-समय पर मिल रहे मार्गदर्शन और आशीर्वाद को ही  इसकी सफलता का असली हेतू बतलाया। आवास व्यवस्था के बारे में किशन बैद, प्रशासन  और जनसम्पर्क के बारे में सह-संयोजक महावीर रांका, अर्थ के सम्बन्ध में कानीराम  डाकलिया, आयोजन के बारे में लूनकरन छाजेड़, मीडिया प्रचार-प्रसार और सूचना प्रेषण  के बारे में धर्मेन्द्र डाकलिया ने अब तक की गति के बारे में सभी को जानकारी प्रदान की।  दुलीचंद चौपड़ा, टोडरमल लालाणी, पुखराज चौपड़ा, आसकरण पारख, श्रीमती संतोष  बोथरा ने भी अपने सुझाव बतलाए। बैठक में रतनलाल निर्मल बाफना, इंदरचंद बैद,  सुमेरमल दफ्तरी, पानमल नाहटा, तोलाराम सामसुखा के साथ-साथ समाज की सभी  संस्थाओं के पदाधिकारी और अनेक गणमान्य लोगों ने बैठक में उपस्थित होकर अब तक  के कार्यों के प्रति संतोष व्यक्त करते हुए पूज्य प्रवर के आगामी गंगाशहर प्रवास और धर्मसंघ  के 150 वें मर्यादा महोत्सव को गंगाशहर की गरिमा के अनुरुप ऐतिहासिक बनाने के लिए  सभी के समन्वित प्रयासों को जरुरी बतलाया। बैठक का संचालन मंत्री जतनलाल दूग्गड़  और हंसा गेस्ट हाउस परिवार की ओर से श्रीमती शारदा डागा ने आए हुए अतिथियों का  आभार व्यक्त किया। 

Tag

Share this news

Post your comment