Monday, 18 January 2021

KhabarExpress.com : Local To Global News
  3891 view   Add Comment

पीबीएम में भवन निर्माण, मरम्मत पर खर्च होंगे 5 करोड़ 91 लाख

8 कमेटीयों का गठन

बीकानेर। सरदार पटेल आयुर्विज्ञान महाविद्यालय व सबंद्घ पीबीएम अस्पताल में वित्तिय वर्ष 2011.12 में 5 करोड़ 90 लाख 91 हजार रूपये की लागत से भवनों के मरम्मत एवं उच्चीकरण के कार्य होंगे। कार्या की गुणवता व समय पर पूरे हो इसके लिए आठ कमेटियों का गठन किया गया है। यह जानकारी आयुर्विज्ञान महाविद्यालय के कार्यवाहक प्राचार्य  डा के.सी.नायक ने शुक्रवार को कॉलेज सभागार में निर्माण कार्यों से जुडी विभिन्न कार्यकारी एजेन्सि के अभियन्ता एवं अधिकारियों व चिकित्सकों की बैठक में दी। उन्होंने बताया कि सभी कार्य निर्धारित समय सीमा में गुणवता पूर्वक हो इसके लिए अलग.अलग कमेटियों का गठन किया गया है। प्रत्येक कमेटी मे दो चिकित्सक व दो अभियन्ताओं को शामिल किया गया है। कमेटी हर 15 दिन से समीक्षा बैठक करएकार्य की प्रगति की रिपोर्ट जिला कलक्टर व प्राचार्य मेडिकल कॉलेज को प्रस्तुत करेगी। डॉण्नायक ने बताया कि महाविद्यालय के भवन के नवीनीकरण पर 106.78 लाख रूपये व अस्थि रोग विभाग के ऑपरेशन थियेटर के नवीनीकरण व विस्तार पर 80 लाख रूपये खर्च किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि अस्पताल परिसर में बने मकानों की मरम्मत व विस्तार पर 51 लाख 48 हजार रूपये व्यय किये जायेगे। कॉलेज व अस्पताल में चार दिवारी तथा स्विमिंग पूल के पुर्नरूद्घार पर 37.75 लाख रूपये खर्च किये जायेंगे। इसी प्रकार से छात्रावास के निर्माण पर 40.98 लाख रूपये मेडिकल कॉलेज के यू.जी. होस्टल में चार दिवारी को ऊंचा कर सीवरेज लाइन के कार्य पर 51.66 लाख रूपये खर्च किये जायेंगे। डॉण्नायक ने बताया कि कॉलेज के फिजियोलॉजी विभाग की मरम्मत व नवीनीकरण के कार्य पर 11.19 लाख रूपये फोरेन्सिक मेडिसिन विभाग में मरम्मत और नवीनीकरण पर 4.51 लाख रूपये रूपये व्यय किये जायेंगे। इसके अलावा 50 बिस्तरों वाले नए कॉलेज हॉस्टल पर निर्माण पर एक करोड़ दो लाख रूपये व्यय किये जायेंगे। बैठक में डॉ शशि अग्रवाल व डॉ के.के. वर्मा ने कहा कि पीबीएम अस्पताल परिसर की सड़क अस्पताल के सामने बनी मुख्य रोड़ से 6 इंच नीचे होने के कारण परिसर में वर्षा का पानी एकत्रित होता है। इसे रोकने के लिए जरूरी है कि अस्पताल परिसर की सड़क का लैबल मुख्य सड़क से किया जाये। डा रेणु अग्रवाल ने कहा कि अस्पताल परिसर के गंदे पानी के पुनरू उपयोग के लिए जल शोधक प्लांट स्थापित किया जावे और उस पानी का उपयोग साफ.सफाई के लिए हो तथा ट्रोमो हॉस्पिटल क निर्माण कार्य नगर विकास न्यास के अभियन्ताओं के नहीं है आने से धीमी गति से हो रहा है। डा वीर बहादूर व डॉ के.के. वर्मा ने कहा कि गल्र्स हॉस्टल के निर्माण में तेजी लाई जाए। साथ ही ऐसे आवास चिन्हित किये जाये जो मरम्मत के बाद काम में आ सकेएउन्हें शीघ्र रहने की हालत में लाया जाये। बैठक में सार्वजिनक निर्माण विभागएजिला परिषदएजनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अभियन्ता सहित कार्यवाहक अधीक्षक  डा. ओपी श्रीवास्तव व डा. सलीम डा. दीपचंद उपस्थित थे।

        




 

 

Tag

Share this news

Post your comment