Monday, 18 January 2021

KhabarExpress.com : Local To Global News
  3051 view   Add Comment

निशक्तजनों के लिए और सुविधाएं-बेनीवाल

बीकानेर। सरकारी मुख्य सचेतक वीरेन्द्र बेनीवाल ने कहा है कि हर कोई व्यक्ति सेवा नहीं कर सकता, मन में करूणा एवं उत्कृष्ट सेवा भाव वाला व्यक्ति ही असहाय पीडतों की अनुकरणीय सेवा कर सकता है। बेनीवाल रविवार को जिला अस्पताल सेटेलाईट में आयोजित विकलांगता सहायता शिविर में  मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि हम ईश्वर की संतान है, अतः प्रत्येक मनुष्य में किसी न किसी अंश तक दया-करूणा अवश्य होती है और वह निर्धन, असहाय विकलांगों की सेवा करने की चाहत भी रखता है। उन्होंने कहा कि एक स्वस्थ व्यक्ति को जीने के लिए कठोर परिश्रम करना पडता है और असामान्य एवं विकलांग व्यक्ति इस दौर में कैसे जीवन जीता होगा, इसे मध्यनजर रखते हुए इनकी सुविधाओं में इजाफा होना चाहिए। बेनीवाल ने  कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग  विकलांगों के उत्थान के लिए प्रयासरत है। फिर भी सरकार स्तर पर सभी व्यवस्थाएं करना संभव नहीं है। स्वयं सेवी संस्थाएं अपनी समाज के प्रति जिम्मेदारी, विशेषकर असहाय एवं विकलांग व्यक्तियों के प्रति संवेदनशील होकर उनके कल्याण में आगे आएं । उन्होंने समय-समय पर ऐसे शिविरों की और जरूरत जताई और कहा कि इन शिविरों में विकलांगों को उनकी जरूरत के मुताबिक उपकरण,प्रमाण पत्रा तथा पेंशन आदि के कार्य होने चाहिए। शिविर की अध्यक्षता करते हुए निःशक्तजन आयुक्त खिल्ली चंद जैन ने विकलांगता को चुनौती के रूप में लेने बल दिया और कहा कि हिम्मत से जीयो, अपनी शक्ति और आत्मबल को मजबूत करों।  उन्होंने शारीरिक रूप से कमी रहे व्यक्तियों के प्रति सहानुभूति रखते हुए नकारात्मक सोच के बजाय सकारात्मक सोच से इन्हें देखने पर बल दिया और कहा कि विकलांग व्यक्ति की क्षमता के अनुसार उन्हें काम दिया जाना चाहिए। ऐसा होने पर ये भी समाज की मुख्यधारा में सहयोग करने में पीछे नहीं रहेंगे। उन्होंने कहा कि इनमें कुछ कमी है, इस सोच को बदलना होगा। बहुत से ऐसे चिकित्सक,वैज्ञानिक एवं संगीतकार हुए है,जो शारीरिक दृष्टि से उनमें कमी होते हुए भी  उन्होंने ऊंचाईयों को छुआ है।  जैन ने विकलांगों को प्रमाण पत्र जारी करने में और गति की आवश्यकता जताई और कहा कि अधिकारी संवेदनशील होकर इनकी समस्याओं का निराकरण करें। उन्होंने कहा कि विकलांग पेंशन योजना के सरलीकरण के प्रयास किये जायेंगे।  इस अवसर पर  विजय सिंह बांठिया ने गो सेवा आयोग के पूर्व अध्यक्ष भंवर लाल कोठारी की अनुपस्थिति में उनके संदेश को वाचन किया। शिविर को गजेन्द्र सांखला ने भी संबोधित किया। इससे पूर्व बेनीवाल और जैन ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी  के चित्र को माला पहनाई  और दीप प्रज्जवलित कर शिविर का शुभारंभ किया। शिविर में अतिथियों ने विकलांग पात्र व्यक्तियों को ट्राई साइकिल,व्हील चैयर एवं श्रवण यंत्र आदि प्रदान किये।  इस मौके पर सेवा आश्रम एवं मूक बधिर के लिए संचालित आशा स्कूल के छात्रो ने कार्यक्रम प्रस्तुत किया। शिविर में रोडवेज एवं रोजगार कार्यालय के संयुक्त प्रयासों से विकलांगों के पास जारी किये गये। इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग,अग्रणीय बैंक,जिला उद्योग केन्द्र,चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग,जिला परिषद आदि विभागों ने अपने काउन्टर लगाये और आवश्यक आवेदन पत्रा तैयार किये।
 शिविर में जिला रसद अधिकारी राजीव भाकल, सहायक कलक्टर ए.एच.गौरी,उपखण्ड अधिकारी मदन लाल सियाग,मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा.सी.बी.धानावत,सुभाष मित्तल,सोमदत श्रीमाली, मन मोहन कल्याणी, सुनीता गौड, उमर खान सहित बडी संख्या में श्री भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति, महावीर इंटरनेशनल, नारायण सेवा संस्थान, रोटरी क्लब, भारत विकास परिषद, उरमूल ग्रामीण स्वास्थ्य शोध एवं विकास न्यास संस्थाएं के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Tag

Share this news

Post your comment