Thursday, 23 March 2017

काॅग्रेस का आन्दोलन हुआ खत्म

जनता से राय कर नए सिरे किया जायेगा आन्दोलनः डाॅ कल्ला

काॅग्रेस का आन्दोलन हुआ खत्म

बीकानेर। बीकानेर शहर में  रेल बाईपास और तकनिकी विश्वविधालय समेत बीकानेर संभाग से जुड़ी 7 सूत्री मांगों की लेकर पूर्व मंत्री डाॅ बीडी कल्ला के नेत्तृत्व मे बीकानेर जिला काग्रेंस की ओर चलाया गया आंदोलन आज दो बजे काग्रेंस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलेट और नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी की मौजदूगीं के  आव्हान पर खत्म हो गया।
सचिन पायलेट ने धरनास्थल पर वसुंधरा को असंवेदनशील कहते हुऐ डाॅ कल्ला से उनके अनशन को समाप्त कर विकास की मांगो पूरा करवाने के लिए नये सिरे से संघर्ष करने का कहा। उन्होने कहा इन सभी को विधानसभा मे पुरजोर तरीके से उठाया जायेगा और बीकानेर का जायज मांगे और हक पूरा करवाया जायेगा।
सभा स्थल रामेश्वर डूडी ने भी बीकानेर की मांगो को पूरा करने के लिए विधानसभा मे इस मांग को रखने की बात कहकर डाॅ कल्ला सहित 6 अनशनकारीयों को धरना समाप्त करने का आग्रह किया।
दोनो नेताओं के आश्वासन पर डाॅ बीडी कल्ला ने कहा कि मै काॅग्रेस का सिपाही हुं और हमारे वरिष्ठ नेताओं के कहने पर मै अभी आमरन अनशन तोड़ता हुं  और इस संघर्ष को बीकानेर की जनता से राय करने के बाद नये सिरे से शुरू करने की भी घोषणा करूंगा।  
इसके  बाद पायलट व डूडी ने बीडी कल्ला को ज्युस पिलाकर अनशन तुड़ावा दिया।  पिछले पांच दिन से डाॅ कल्ला के साथ आमरण अनशन पर बैठे शहर काॅग्रेंश अध्यक्ष यशपाल गहलोत, नेता प्रतिपक्ष जावेद पडि़हार, सुखदेवनाथ, और मांगीलाल नायक को ज्यूस पिलाकर अनशन समाप्ता करवाय। 

गौरतलब है कि डाॅ कल्ला के नेत्तृत्त्व मे भारी जोश- उत्साह के साथ यह धरना शुरू हुआ था और विभिन्न संगठनों के सहयोग भी मिला। हालांकि आमजन मानस का इस धरने से कोई बड़ा जुड़ाव नही दिखा, इसके चलते वसुंधरा राजे ने भी काॅग्रेस को साठ सालों मे विकास न करने की बात कह कर चली गई।  
कल 26 जनवरी को वसुंधरा राजे ने डाॅ कल्ला सहित काॅग्रेस प्रतिनिधि मंडल से होटल लालगढ़ पैलेस मे मुलाकात की थी, लेकिन वहां वसुंधरा ने कोई विशेष तवज्जो ने देते हुए डाॅ कल्ला के कार्यकाल के समय विकास नही होने की बात दोहराई। डाॅ कल्ला ने काॅग्रेस के समय कार्य शुरू करने और विभिन्न योजनाओं को बन्द करने पर कहा। राजे ने हालांकि इन मांगो पर कार्यवाही की बात कही लेकिन प्रतिनिध मंण्डल के लिखित मे आश्वासन मांगने पर विशेष टिप्पणी न करते हुआ आई विल बैक टु यु कहकर चली गई, बैठक से चली गई।  वसुंधरा के इस कड़े रूख के चलते डाॅ कल्ला संघर्ष को जारी रखने की बात कही थी। 
धरनास्थल पर कांग्रेंस के पूर्व मंत्री भंवरलाल मेघवाल, पूर्व सांसद भरत मेघवाल, भवानीशंकर शर्मा, जनार्दन कल्ला, लक्ष्मण कड़वासरा सहित समेत बड़ी तादाद में सम्भांगस्तर  के काग्रेंसी नेता भी मौजूद थे।

 

BD Kalla   Sachin Pilot   Rameshwar Dudi   Vasundhara Raje