Friday, 04 December 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  2937 view   Add Comment

राज्यपाल ने किया जनजाति अंचल का भ्रमण

ग्रामीणों से हुई रूबरू, सरकारी संस्थानों का किया निरीक्षण

डूंगरपुर, 16 सितंबर/ जिले के दो दिवसीय दौरे पर पहुंची राज्यपाल मार्ग्रेट आल्वा सोमवार को कई गांवों का दौरा किया और यहां पर ग्रामीणों से रू-ब-रू होते हुए जनजाति कल्याण के लिए चलाई जा रही योजनाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने यहां पर विभिन्न सरकारी संस्थाओं का निरीक्षण किया और बेहतर व्यवस्थाओं के लिए निर्देश प्रदान किए। 

फलोज पीएचसी की मरम्मत के दिए निर्देश 

राज्यपाल ने जनजाति अंचल में अपने क्षेत्रीय भ्रमण की शुरूआत फलोज गांव स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के निरीक्षण के साथ की। चिकित्सालय पहुंची राज्यपाल ने परिसर में खड़े एक विद्यार्थी को देखकर उससे चिकित्सालय में आने का कारण पूछा तो उसने यहां पर अपने इलाज के लिए दवाई लेने आने की बात कही। राज्यपाल ने उसकी पर्ची देखी और यहां पर मिली दवाई के बारे में पूछा। दसवीं कक्षा के विद्यार्थी लोकेश ने बताया कि उसे यहां पर दवाई मिली है और वह अब ठीक हो जाएगा। इसी प्रकार चिकित्सालय के प्रवेश द्वार पर उन्होंने एक ग्रामीण महिला सुरता को बच्चे के साथ देखा तो उससे संवाद किया और उससे उसकी संतान के बारे में जानकारी ली। सुरता ने चार संतानों के होने की जानकारी दी तो  राज्यपाल ने उसे समझाया और कहा कि छोटा परिवार ही सुखी परिवार होता है। 
इसके बाद उन्होंने चिकित्सालय के विभिन्न भागों का निरीक्षण किया। चिकित्सालय के एक कक्ष की दिवारों और छत की जर्जर हालत पर राज्यपाल ने संभागीय आयुक्त डॉ. सुबोध अग्रवाल को बुलाया और चिकित्सालय की मरम्मत के संबंध में कार्यवाही के निर्देश दिए। संभागीय आयुक्त ने चिकित्सालय की मरम्मत के लिए प्रस्तावों को भेजने की जानकारी दी तो उन्होंने इस कार्य को शीघ्रता से पूर्ण करवाने के निर्देश दिए। 
चिकित्सालय के फिमेल वार्ड के निरीक्षण दौरान पलंग पर सोई दो प्रसूताओं पुष्पा और माया से संवाद करते हुए उनकी संतान के बारे में जानकारी ली। उन्होंने बच्चों को दुलार किया और महिलाओं के एनीमिक होने की स्थिति पर चिंता जताई। इस दौरान उन्होेंने लेबर रूम, निःशुल्क जांच योजना प्रयोगशाला, वेक्सीन कक्ष को भी देखा। उन्होंने चिकित्सालय में पुरूषों के लिए वार्ड नहीं होने की स्थिति पर मौजूद चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिए कि चिकित्सालय में स्थित कक्षों का सदुपयोग करें और एक कक्ष पुरूषों के लिए भी रखे ताकि उन्हें भी चिकित्सा सेवाएं दी जा सके। निरीक्षण उपरांत चिकित्सालय परिसर में मौजूद ग्रामीणों से संवाद कर यहां पर मिल रही चिकित्सा सेवाओं के बारे में जानकारी ली। 
दिखी महिलाएं तो रूकी राज्यपाल: 
सोमवार को क्षेत्रीय भ्रमण के दौरान राज्यपाल को जहां भी महिलाएं दिखी तो उन्होंने वहां पर रूककर उनसे संवाद किया। उन्होंने महिलाओं से उनकी संतानों की संख्या, उन्हें मिलने वाले राशन की नियमितता, पेंशन राशि और सरकार की अन्य योजनाओं के बारे में जानकारी ली। अपने बीच राज्यपाल को देखकर ग्रामीण महिलाएं भी मुखरित हुई और उन्होंने खुलकर संवाद करते हुए साफबयानी की। फलोज जनजाति आश्रम छात्रावास के बाहर एक महिला सविता ने राज्यपाल को अपने पति की मृत्यु पर अनुकंपात्मक नियुक्ति के लिए आग्रह किया तो पुष्पा यादव ने बीपीएल सूची में चयनित कराने की मांग की। राज्यपाल ने स्थानीय जनप्रतिनिधि उप जिला प्रमुख प्रेमकुमार पाटीदार से संवाद करते हुए इन प्रकरणों में आवश्यक कार्यवाही के लिए ग्रामीणों की मदद करने को कहा।  
छात्रावास में बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के दिए निर्देश:
राज्यपाल ने अपने भ्रमण दौरान राजकीय जनजाति आश्रम छात्रावास फलोज का भी आकस्मिक निरीक्षण किया और यहां पर विभिन्न अव्यवस्थाओं पर हास्टल वार्डन के प्रति नाराजगी जताई। छात्रावास के रसोईघर में उन्होंने बर्तनों की कमी पर आश्चर्य व्यक्त किया और खुले में बन रहे भोजन को देखा। यहां उन्होंने दाल के पतीले को भी खोलकर देखा और तैयार चावलों को देखा। उन्होंने विद्यार्थियों को दी जाने वाली भोजन सामग्री के बारे में जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने छात्रावास के विभिन्न कक्षों का भी निरीक्षण किया और परिसर में खुले विद्युत मीटर के तारों को दुरस्त कराने के लिए भी निर्देश प्रदान किए।  
नरेगा श्रमिकों से किया संवाद: 
 राज्यपाल ने फलोज से दामड़ी जाते हुए रास्ते में कार्य कर रहे महात्मा गांधी नरेगा योजना के श्रमिकों से भी संवाद किया और उनसे मजदूरी के भुगतान और राशन वितरण व्यवस्थाओं पर जानकारी ली। श्रमिकों ने नरेगा भुगतान के नियमित होने तथा केरोसीन के अनियमित वितरण की जानकारी दी। इसी प्रकार यहां पर ग्रामीणों से संवाद दौरान कुछ महिलाओं ने पेंशन राशि के संबंध में शिकायत की जिस पर उन्होंने मौजूद अधिकारियों को कार्यवाही के निर्देश दिए।
दामड़ी सीएचसी की व्यवस्थाओं पर कहा ‘वेरी गुड’:
क्षेत्रीय भ्रमण दौरान  राज्यपाल ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दामड़ी का निरीक्षण किया और यहां पर बेहतर व्यवस्थाएं पाकर प्रसन्नता जताई व ‘वेरी गुड’ कहा। उन्होंने चिकित्सालय के विभिन्न प्रभागों का निरीक्षण किया और यहां पर सफाई और वार्डों की अच्छी स्थिति पर खुशी जताई। इस दौरान उन्होंने महिला वार्डों में भर्ती प्रसूताओं को जननी शिशु सुरक्षा योजना के तहत प्रोत्साहन राशि के चैकों का वितरण किया और प्रसूताओं से संवाद किया। उन्होंने यहां पर मौजूद ग्रामीणों से भी चिकित्सालय में मिल रही सुविधाओं पर जानकारी ली। 
....और सर्किट हाउस  अधिकारियों का लिया परिचय:
क्षेत्रीय भ्रमण उपरांत  राज्यपाल डूंगरपुर सर्किट हाउस पहुंची जहां पर उन्होंने जिला स्तरीय अधिकारियों का परिचय लिया।  राज्यपाल का यहां पर चौरासी विधायक शंकरलाल अहारी, समाजसेवी उर्मिला अहारी, सुखदेव यादव सहित कई जनप्रतिनिधियों व एनजीओ प्रतिनिधियों ने स्वागत किया।   
-----------

राज्यपाल  लेंगी जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक
जिले के दो दिवसीय दौरे पर पहुंची  राज्यपाल  मार्ग्रेट आल्वा मंगलवार को जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेंगी और आमजन से संवाद करेंगी।  
जिला कलक्टर विक्रमसिंह ने बताया कि राज्यपाल 17 सितम्बर को प्रातः 11 बजे सर्किट हाउस में जनजाति क्षेत्रीय विकास विभागीय योजनाओं के क्रियान्वन से संबंधित जिला स्तरीय विभागीय अधिकारियों की बैठक लेंगी। महामहिम राज्यपाल अपराह्न चार बजे स्थानीय जनप्रतिनिधियों और आमजनों से संवाद करेगी और सायं 4.45 बजे दोवड़ा हवाई पट्टी के लिए प्रस्थान करेंगी। वे सायं 5 बजे हवाई पट्टी पहुंच स्टेट प्लेन से जयपुर के लिए प्रस्थान कर जाएंगी।  

Tag

Share this news

Post your comment