Thursday, 23 March 2017

मुख्यमंत्री  ने किया नागणेचीजी विस्तार योजना का शिलान्यास

1 करोड़ 19 लाख की लागत से विस्तृत होगा नागणेचीजी मंदिर परिसर

मुख्यमंत्री  ने किया नागणेचीजी विस्तार योजना का शिलान्यास

बीकानेर,  मुख्यमंत्री  वसंुधरा राजे ने कहा कि लोक देवी-देवताओं, संत-महात्माओं और गुरूजनों के आशीर्वाद से राज्य विकास पथ पर अग्रसर हो रहा है। उन्होंने कहा कि सभी के समन्वित प्रयास राजस्थान को निश्चय ही आगे ले जाएंगे। 
मुख्यमंत्री मंगलवार को नागणेचीजी मंदिर परिसर में देव स्थान विभाग की ओर से 119.25 लाख रूपये की लागत से बनने वाले नागणेचीजी मंदिर विस्तार परियोजना के शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहीं थीं।उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में लोक देवी-देवताओं, महापुरूषों के सम्मान में स्मारक एवं पेनोरमा निर्मित किए जा रहे हैं। इससे आमजन अपने इतिहास को जान सकेंगे तथा महापुरूषों के जीवन से प्रेरणा ले सकेंगे। उन्होंने कहा कि देशनोक स्थित करणी माता पैनोरमा का निर्माण कार्य शुरू हो गया है, अब नागणेचीजी मंदिर में विस्तार परियोजना पूर्ण की जायेगी। 
राजे ने कहा कि राज्य के सभी नागरिक एक परिवार के रूप में एकसूत्रा में बंधे रहंे। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को बधाई देते हुए कहा कि आज प्रदेश में महिलाएं सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ रही हैं। राज्य में सबसे ज्यादा महिला बटालियन हंै।  राजे ने पूर्व महाराजा स्व.गंगासिंह को याद करते हुए कहा कि उनके प्रयासों व दूरदृष्टि से क्षेत्रा में पानी की समस्या दूर हुई। उन्होंने आमजन से अपील की कि वे 27 जनवरी से प्रारंभ हो रहे ’मुख्यमंत्री जल स्वालम्बन अभियान’ के सफल क्रियान्वयन में अपनी सक्रिय भागीदारी निभाएं।  

स्वच्छता का रखंे विशेष ध्यान
मुख्यमंत्री ने शहर की साफ-सफाई की पुख्ता व्यवस्था  करने तथा जिले को खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) घोषित होने पर बीकानेर जिला कलक्टर व उनकी टीम की सराहना की। उन्होंने आमजन का आह्वान किया कि अपने शहर को सुन्दर व सुरम्य बनाने के लिए प्रशासन का सहयोग करें। अपने घरों के आगे व मार्ग पर कचरा न डालंे तथा निर्धारित स्थान पर ही कचरे को निस्तारित करें। उन्होंने जिला कलक्टर को निर्देश दिए कि होटल व ढाबा संचालकों द्वारा गंदगी फैलाने पर संबंधित के खिलाफ तुरन्त कार्यवाही की जाए। 

राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रौन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष  औंकार सिंह लखावत ने बताया कि यह परियोजना आगामी 8 माह में पूर्ण कर ली जायेगी। इस संबंध में कार्यादेश जारी कर दिया गया है तथा आगामी माह में कार्य प्रारंभ कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि आर.एस.आर.डी.सी.द्वारा इस परियोजना में निर्माण कार्य करवाया जायेगा। 
समारोह में मुख्यमंत्री को दानदाता  निर्मल कामरा द्वारा मंदिर विकास के लिए देवस्थान विभाग के नाम 11 लाख रूपये राशि तथा  भागीरथ सारस्वत द्वारा मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए एक लाख रूपये का चैक भेंट किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत में मुख्यमंत्री  राजे ने शिला पूजन व पट्टिका का अनावरण किया। 


मंदिर में की पूजा अर्चना
मुख्यमंत्री  वसुंधरा राजे ने पांच शताब्दी से अधिक प्राचीन नागणेचीजी मंदिर में  पूजा अर्चना की तथा प्रदेश में खुशहाली, प्रगति व आपसी भाईचारे की कामना की। मुख्यमंत्री को मंदिर प्रशासन द्वारा माला, प्रसाद भेंट किया तथा चुनरी ओढ़ाकर सम्मानित किया गया।  

इस अवसर पर संसदीय सचिव डाॅ.विश्वनाथ, सांसद  अर्जुन राम मेघवाल, विधायक डाॅ.गोपाल जोशी,विधायक सिद्धि कुमारी, महापौर नारायण चोपड़ा, संभागीय आयुक्त  सुबीर कुमार, जिला कलक्टर  पूनम, पुलिस अधीक्षक डाॅ.अमनदीप कपूर, आर.एस.आर.डी.सी .के परियोजना निदेशक  सतीश शर्मा सहित प्रशासनिक व पुलिस अधिकारी व मंदिर कमेटी के पदाधिकारी मौजूद थे।