Friday, 04 December 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  3591 view   Add Comment

विश्वकर्मा जयंती पर वागड़ में छाया उल्लास

जगत्सृष्टा की हुई आराधना

डूंगरपुर/बांसवाड़ा, जगत्सृष्टा भगवान विश्वकर्मा की जयंती बुधवार को समूचे वागड़भर में उल्लास के साथ मनाई गई। इस दौरान बांसवाड़ा व डूंगरपुर जिले में विभिन्न गांवों में अवस्थित विश्वकर्मा मंदिरों में त्रिनेत्रधारी भगवान विश्वकर्मा की विशेष पूजा अर्चना की गई और भजन कीर्तन, शोभायात्रा, प्रतियोगिताओं व महाआरती के आयोजनों में श्रद्धा उमड़ी।
जिला मुख्यालय पर सुथारवाड़ा स्थित भगवान विश्वकर्मा मंदिर में देव प्रतिमा का विशेष श्रृंगार किया गया और पूजा अर्चना के कार्यक्रम आयोजित किए गए। जयंती के मौके पर मंदिर की विशेष सजावट की गई और देव प्रतिमाओं की आरती उतारकर भोग धराया गया। इस मौके पर समाजजनों ने भजन कीर्तन भी किए गए। सायंकाल शहर में भगवान विश्वकर्मा की शोभायात्रा निकाली गई जिसमें समाजजनों ने हिस्सा लिया।
इसी प्रकार बांसवाड़ा जिला मुख्यालय पर भी त्रिपोलिया रोड़ स्थित भगवान विश्वकर्मा मंदिर में देव प्रतिमाओं का विशेष श्रृंगार किया गया तथा शोभायात्रा निकाली गई। बांसवाड़ा जिले के बड़ोदिया स्थित विश्वकर्मा मंदिर के साथ ही सालिया मंदिर में भी भगवान विश्वकर्मा प्रतिमा के साथ विघ्नहर्ता गणेश व देवी गायत्री की प्रतिमाओं के मनोहारी श्रृंगार के साथ विशेष पूजा अर्चना की गई। बड़ोदिया कस्बे में विश्वकर्मा जयन्ति के अवसर पर प्रतिमा का भव्य श्रंगार किया गया। इस अवसर पर सुथार समाज के अतिरिक्त वैष्णव सम्प्रदाय के लोगों ने भगवान विश्वकर्मा से जीवन में सुख शान्ति की मनोकामना की। समाज के युवा कार्यकर्ता एवंं वाराही माता विकास समिति के अध्यक्ष प्रवीण सुथार ने बताया कि प्रात: से ही भगवान विश्वकर्मा मन्दिर पर दर्शनाथियों की आवाजाही प्रारम्भ हो गई थी। दिनभर समाज के पुरूषोत्तम सुथार, प्रेमशंकर सुथार, शिक्षाविद् लीलाराम शर्मा सहित अनेक बुजुर्ग लोगों ने भजन कीर्तन किये।  डूंगरपुर जिले के चितरी में भगवान विश्वकर्मा मंदिर में समाज के ईश्वरलाल सुथार के सानिध्य में भगवान विश्वकर्मा की पूजा अर्चना व महाआरती की गई।
इधर, सागवाड़ा में  सुथार समाज की ओर से विश्वकर्मा मंदिर से गंधकूटी में भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा विराजित कर शोभायात्रा निकाली गई।  कसारा चौक, सुथारवाड़ा, पोल का कोठा, मांडवी चौक होती हुई शोभायात्रा मंदिर परिसर पहुंची। भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा को विशेष रूप से शृंगारित किया गया एवं पूजा अर्चना की गई। दोपहर में भगवान विश्वकर्मा की महाआरती का लाभ जितेन्द्र देवशंकर सुथार ने लिया। शोभायात्रा के दौरान मार्ग पर महिलाओं ने गरबा रास खेला। इस दौरान अध्यक्ष नर्वदाशंकर सुथार, कोषाध्यक्ष धर्मेन्द्र सुथार, रूपेश, कांतिलाल, देवशंकर, भगवतीलाल, जितेन्द्र, लक्ष्मीनारायण, रविन्द्र, मनोहरलाल, कमलाशंकर, हरीशचन्द्र, पंकज, राजेन्द्र, भारतनंद, अरविन्द, शैलेन्द्र, रोहित, लालशंकर सहित समाजजन मौजूद थे। जेठाणा में सुथार समाज की ओर से विश्वकर्मा जयंती मनाई। महापूजन व भजन कीर्तन कार्यक्रम हुआ। मुख्य यजमान चुन्नीलाल सुथार थे। विभिन्न प्रतियोगिताएं जिसमें सामान्य ज्ञान वरिष्ठ वर्ग में निखिल प्रथम, प्रतीक द्वितीय, कनिष्ठ वर्ग में विनायक प्रथम, रोहन द्वितीय, मेहन्दी में हर्षिता प्रथम, शीतल द्वितीय, चम्मच रेस में बालक वर्ग में चयन प्रथम, रोहिताश्व द्वितीय, बालिका में श्रेया प्रथम, अनुश्री द्वितीय, रंगोली में धीरजा प्रथम, शीतल द्वितीय, चित्रकला वरिष्ठ वर्ग में नैंसी प्रथम, अदिती द्वितीय, कनिष्ठ में रोहन प्रथम, विनायक, याना द्वितीय, कुर्सी रेस में निखिल प्रथम, रोहिताश्व द्वितीय, बालिका में फाल्गुनी प्रथम व अमिषा द्वितीय रहे। कार्यक्रम के दौरान प्रतिभाओं व प्रतियोगिता में विजेता व उप विजेता को चुन्नीलाल सुथार द्वारा पुरस्कार वितरित किए गए। बालिका शिक्षा प्रोत्साहन के लिए बटुकलाल सुथार ने प्रोत्साहन पुरस्कार दिए। संचालन दिनेश सुथार व अशोक सुथार ने किया। 
पुनर्वास कॉलोनी में सुथार समाज की ओर से विश्वकर्मा जयंती हर्षोल्लास से मनाई। मंदिर में भगवान विश्वकर्मा की प्रतिमा को विशेष रुप से सजाया गया। प्रवीण, संजय, शांतिलाल, कृपाशंकर, जयेश, कांतिलाल, कन्हैयालाल व नवयुवक मंडल ने झांकी सजाई। अध्यक्ष मणीकांत सुथार के सान्निध्य में भजन कीर्तन हुए। महाआरती कमलाशंकर, दयालजी ने उतारी। कार्यक्रम के दौरान मेधावी प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। संचालन अंबालाल सुथार ने किया।
गुजराती मेवाड़ा सुथार समाज छासठ चोखरा द्वारा  विश्वकर्मा जयंती लक्ष्मणपुरा छात्रावास भवन में धूमधाम से मनाई गई। इस मौके पर भगवान की प्रतिमा का आकर्षक श्रृंगार किया गया और आरती उतारी गई। कार्यक्रम में समाज के अध्यक्ष ईश्वरलाल सुथार, उपाध्यक्ष पूनमचंद, सचिव भगवतीलाल, कोषाध्यक्ष नटवरलाल, सचिव गजानंद, भगवानलाल, गिरजाशंकर एवं डायालाल गोवाड़ी सहित समाजजनों ने भाग लिया। 
चितरी कस्बे में विश्वकर्मा जयंती पर धार्मिक आयोजन किए गए। मंदिर में भगवान की विशेष पूजा अर्चना के बाद बेण्डबाजे के साथ भगवान की शोभायात्रा निकाली गई जिसमें बड़ी संख्या में सुथार समाज के श्रद्धालुओं ने हिस्सा लिया। शोभायात्रा गांव के प्रमुख मार्गो से होती हुई लक्ष्मीनारायण चौक पहुंची जहां पर महिलाओं ने गरबा नृत्य खेला। शोभायात्रा के समापन पर विश्वकर्मा मंदिर में महाआरती के साथ महाप्रसाद हुआ। इस अवसरपर चोखला अध्यक्ष ईश्वरलाल सुथार, मणिलाल, कमलाशंकर, उपसरपंच देवीलाल सुथार, हरिवल्लभ, विनोद, संतोष, ओमप्रकाश, गौरीशंकर, मनोज, मुकेश, प्रेमकुमार सहित कई समाजजनों ने हिस्सा लिया। 

Tag

Share this news

Post your comment