Tuesday, 01 December 2020

KhabarExpress.com : Local To Global News
  2976 view   Add Comment

51 दम्पत्तियों ने पीपल के पौधे लगाये, लिया रखरखाव का संकल्प

गंगाशहर सुजानदेसर गोचर विकास एवं पर्यावरण समिति द्वारा उत्साह से पीपल के पौधो को लगाया

51 दम्पत्तियों ने पीपल के पौधे लगाये, लिया रखरखाव का संकल्प

बीकानेर। बीकानेर शहर के पास सुजानदेसर गोचर में गंगाशहर सुजानदेसर गोचर विकास एवं पर्यावरण समिति द्वारा आज शुक्रवार को आयोजित पौधारोपण कार्यक्रम में बडे ही उत्साह से पीपल के पौधो को लगाया।

Tree Plantation by 51 Wedded Coupleसमिति के बाबूलाल गहलोत ने बताया कि पण्डित भंवरलाल पुरोहित के मार्गदर्शन में मूख्य यजमान सीताराम कच्छावा तथा सभी दम्पत्तियों ने विधि विधान  से भूमि पूजन, गणेश पूजन तथा विष्णु रूपी पीपल के वृक्ष का पूजन किया तथा विष्णु भगवान का जयकारा लगाया जिससे पूरी गोचर भूमि धर्ममय हो गयी।

 तत्पश्चात् दम्पत्तियों ने बडे भावपूर्ण ढंग से पीपल के पौधे लगाये।समिति के सीताराम कच्छावा ने बताया कि 51 दम्पत्तियों द्वारा पीपल के पौधो का पौधारोपण का उद्देश्य अधिक से अधिक परिवारों को पौधारोपण से जोड़ना था। उन्होने बताया कि समिति द्वारा गत वर्ष लगाये गये 500 पौधे तथा इस वर्ष लगाये गये 500 पौधो को ड्रिप सिस्टम से जोड़कर पानी की स्थायी व्यवस्था की गई है। उन्होने सभी दम्पत्तियों को इस पौधारोपण कार्यक्रम में भागीदारी करने के लिए आभार प्रकट किया। 

आज पौधारोपण कार्यक्रम में बाबूलाल गहलोत, सीताराम कच्छावा, विजय गहलोत, हनुमान सोंलंकी, वाई.के. शर्मा ’योगी’, प्रताप सिंह, वी.के. शर्मा, ए आसुराम गोदारा, राधाकिशन सांखला, करणीदान चलवा, श्रीगोपाल अग्रवाल, गोपाल आत्रेय, महेन्द्र्र्र सोनी, निर्मल सोनी, शिवप्रकाश सोनी, प्रकाशवीर सोनी, हरीश बी. शर्मा, जयनारायण बिस्सा, महेन्द्र मेहरा, जेसराज कच्छावा, मूलचन्द गहलोत, चन्द्रपाल, रतन सिंह, जेठमल कच्छावा, झंवरलाल कच्छावा, श्यामलाल गहलोत, रामदेव दैया, इन्द्रचन्द कच्छावा, शिव कुशवाहा, संतोष कुमार गहलोत, ओमप्र्रकाश गहलोत, उमेश सांखला, अशोक सोलंकी, सम्पतलाल कच्छावा, महेन्द्र सोलंकी, बाबूलाल सोलंकी, जे.पी. चौहान, मुकेश दैया, पी.सी. सोलंकी, कंवरलाल पंवार, हरी प्रकाश सोनी, मनोज कुमार सेवग, विनोद महात्मा, मनीष सोलंकी, बृजरतन तंवर, डवोकेट सुधीर एवं डॉ. राधा बडगुजर, योगेश आत्रेय, जयकुमार व्यास, अरविन्द कच्छावा, कंवरलाल सोलंकी आदि ने सपत्निक पीपल के पौधे लगाकर इनके रखरखाव का संकल्प लिया।

Tag

Share this news

Post your comment